Dermatitis And Atopic Dermatitis Symptoms and Causes

Dermatitis And Atopic Dermatitis Symptoms and Causes
Dermatitis And Atopic Dermatitis Symptoms and Causes 

Dermatitis and Atopic Dermatitis

Dermatitis and Atopic Dermatitis क्या हैं, Atopic Dermatitis Symptoms and Causes बारे में जाने, Atopic Dermatitis से सुरक्षा कैसे पाये? इन सब बातों को हम अच्छी तरह से यहाँ जानेंगे।

Dermatitis:

Skin की सूजन या inflammation के problem को ही Dermatitis कहा जाता हैं। Skin में कोई भी बदलाव जैसे Skin में लाल लाल पर जाना, skin की पपड़ी निकलना, पीली परत बनने, खुजली होना, swelling होना, किसी में बहुत खुजली के साथ जलन होना एहि सब लक्सयां होता हैं Dermatitis का।

Dermatitis दूसरे में फैलने वाली बीमारी नहीं होती, अपनी पूरी जीवन में कभी न कभी होने वाली बहुत ही common problem होती हैं। Dermatitis ज्यादातर ठीक होने के बाद बापस होने की संभावना बहुत होती हैं और ज्यादातर लोगो को ये बार बार आते हुए देखा गया हैं। ये बहुत ही परेशान करने वाली समस्या होती हैं।


Dermatitis अनुबंसिक कारणों से भी होते हैं, या कभी ये मौसम की बदलाव के कारण से भी होती हैं, या तो allergic कारणों से भी हो सकती हैं। Stress से भी Dermatitis problem हो सकती हैं, अगर हम सिंटा करे और हमेसा stress या तनाव में रहे तो ये बीमारी ज्यादा बढ़ जाती हैं।

आइये हम Atopic Dermatitis के बारे में कुछ जाने.

Dermatitis And Atopic Dermatitis Symptoms and Causes
Dermatitis And Atopic Dermatitis Symptoms and Causes 

Atopic Dermatitis and Symptoms

Dermatitis को ही Atopic Dermatitis कहते हैं। इसमें अलग अलग skin problem देखने को मिलती हैं जैसे skin में सूजन आना, skin लाल होना, खुजली होना यही लक्षण होता हैं Atopic Dermatitis का। कभी कभी ज्यादा खुजली होने से खून भी निकल सकता हैं। Allergy के बजह से लाल होक swelling भी होता हैं, साथ में एक अजीब असहानिअ खुजली भी होती हैं। यह सब परेशानी जादा बगल में, गले में, हाथों पर, पैरो में, पीठ पर देखने को मिलती हैं।

खाने की चीजों से भी allergy हो सकता हैं, कुछ चीजे जैसे, कपड़े से Dirt से या भिर धूल-मिट्टी के contact में आने से भी हमारे skin में लाल धब्बे बन के खुजली होने लगती हैं, ये एक बार हो तोह कोई problem नहीं होती लेकिन अगर बार बार होने लगे तब यह Atopic Dermatitis हो सकती हैं।  Atopic Dermatitis घुटनों के पीछे गार्डन के सामने कलाई में एरिओ में और कान के पीछे होता हैं।



Dermatitis And Atopic Dermatitis Symptoms and Causes
Dermatitis And Atopic Dermatitis Symptoms and Causes 

यह बीमारी ज्यादातर नवजात शिशु में देखने को मिलते हैं, मगर ये सभी उम्र के लोगो को हो सकती हैं। बच्चो को अगर ये हो जाता हैं, तोह बहुत ही समस्या होती हैं क्यों की बच्चे स्कूल जाते हैं खेल-कूद या कहे तोह उनको जितना भी साफ़-सुथरा रखे या उनका care करे तब भी उनको यह बीमारी बहुत ही परेशान करती है, और इसकी वजह से उनको खुजली जलन ज्यादा होती हैं, इस के बाद अगर खुजली वाले जगह अगर ड्राई हो भिर खुजली के बाद पानी निकले तो उसमे ज्यादा ही जलन होती हैं और बीमारी भी ज्यादा हो जाती है।

Environmental allergies से ये फैलने वाली problem होती हैं। और इसी बजह से यह बार बार परेशान करती हैं। अगर बच्चा complain करे के उसको खुजली हो रही हैं, और वह जगह लाल पर जाय dry हो जाए या फुल जाय तोह अपने आप ही उसका इलाज न करे और उसमे बिना जाने ही कोई भी दवाई या तेल use न करे। जाने और उसके बाद इलाज करे।
Atopic Dermatitis से रोज के जीवन में बहुत ही परेशानी झेलनी पड़ती हैं। ये रात को सोते समय भी हमे शान्ति से नहीं सोने देती, इसके जलन से खुजली से हम हर समय परेशान रहते हैं।

Atopic Dermatitis एक क्रोनिक स्किन डिजीज हैं और इसका कोई इलाज नहीं होता हैं, लेकिन हम अच्छे देखभाल से उचित इलाज से और साफ सफाई से और पूरी सबधाणी के साथ रहे तो Atopic Dermatitis की परेशानी से कुछ हद तक दूर रह सकते हैं। ये allergic कारन से होती हैं इसी लिए इसके बारे में हमे अच्छी तरह से जान लेना चाहिए, ताकि हम इसका care ले सके और सवधाणी से इसको बड़ने से रोक सके, साथ में एक अच्छे Dermatologist को भी दिखाना बहुत ही जरुरी होता हैं।

Causes of Atopic Dermatitis

Atopic Dermatitis genetic कारणों से हो सकती हैं, या कुछ भी allergic कारणों से ये परेशानी शुरू हो सकती हैं, खान पान से, Environmental से यह disease हो सकती हैं। हम जो खाते हैं उसमें कभी कोई एक चीज जो हमारे शरीर में allergy शुरू कर देती हैं ठीक उसी तरह Environmental से भी एलर्जी हो सकती हैं। इसका कोई basic कारन पता लगाना मुश्किल होता हैं। इस बीमारी के उत्पत्ति का कारण पता नहीं चल पाता, जो भी कारन लिखा गया हैं इन सब से यह बीमारी बार बार हमारे शरीर में आती हैं, इसी बजह से हमें सावधान रहना चाहिए, और जितना हो सके इस बीमारी को बार बार सरीर में आने से रोकनि की कोशिश करनी चाहिए।

किस बजह से यह disease हुआ हैं, यह बात या इसका कारन कोई भी doctor नहीं बता पाते हैं, और इसी लिए इस disease को पूरी तरह ठीक भी नहीं कर पाते हैं। एसा नहीं हे की इलाज न होने के कारण हमें doctor के पास नहीं जाना चाहिए, हम अगर doctor पास जायेंगे तो हमें इस disease के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी और इसका इलाज भी मिलेगा, जिसे इस disease से पूरी तरह मुक्ति न मिलने के बाद भी इसके पीड़ा से मुक्ति मिल सकती हैं, और इस से बच कर रहा भी जा सकता हैं।

Doctor के पास जाने से हम stress से भी दूर होते हैं साथ में पूरी जानकारी जैसे क्या कहना हैं क्या करना हैं यह जान के इस बीमारी का इलाज कर सकते हैं। ये कोई बड़ी बीमारी नहीं होती है बस ये बहुत पीड़ादायक होती हैं, और उचित Treatment से इसको ठीक करके अच्छी जीवन बितीत कर सकते हैं।

Atopic Dermatitis se suraksha

हम अगर Atopic Dermatitis से बचना चाहते हे तो पहला काम होता हैं एक अच्छे doctor के पास जाना,जो हमे इस problem से बचने का उपाय देते है, और हमें मानसिक रूप से भी हिम्मत देती हैं। क्यों की सिंटा या Emotional upsets से हमे यह बीमारी और भी तकलीफ देती हैं।

हमे simple कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए, जैसे हमेशा cotton का कपड़ा use काना चाहिए, doctor जो cream या ointment दे वही use करे लोशन का use बिलकुल न करे। हमें अपने मन को शांत रखना हे, सिंटा करके इस बीमारी को बरने नहीं देना हैं, खाने पीने की चीजों से सावधान रहना है, ज्यादा तेल या fast-food न खाय, जादा तली हुए चीज़े भी न खाय, धुल मिट्टी या dust से दूर रहना हैं, ज्यादा गन्दी जगहों से से खुद को दूर रखना चाहिए, जानवरो से दूर रहे और जब भी ये परेशानी हो किसी भी जंतु को न छुए, जितना हो सके नाख़ून से न खुजाई, खुद को साफ रखना बहुत ही जरुरी हैं, खुजली की जगह में साबुन का इस्तेमाल न करे और हमेसा पानी पीते रहे।

इस लिखी में हम लोगो ने यह जाना की Dermatitis And Atopic Dermatitis क्या हैं और साथ में इसकी Atopic Dermatitis Symptoms and Causes के बारे में भी जाने। आशा करती हूँ आप लोग समाज गाय होंगे और सावधान रहेंगे. आपलोग निराश न हो इलाज से इलाज से एक स्वत जीवन बिताया जा सकता हैं।

Previous
Next Post »