Eczema - Symptoms, causes and Types of Eczema

Eczema, Symptoms of Eczema and types of Eczema


Eczema क्या हैं, जानिए Eczema के Symptoms और Types क्या हैं, और Eczema का कारण क्या हैं जाने, इस post में Eczema  Symptoms, causes and Types of Eczema के बारे में पूरी जानकारी दिया जायेगा 

Eczema एक Skin Disease हैं, जिसे दाद खाज खुजली भी कहा जाता हैं।

बहुत से लोग खुजली होने से ही  सोचते हैं, की उन्हें एक्जिमा हैं। हर खुजली एक्जिमा नहीं होती। हम कुछ बाते जानेंगे और समझेंगे ताकि Eczema को जान सके, और पहचान सके।

अगर आप के त्वचा के ऊपर, किसी एक जगह, या एक बड़ा सा क्षेत्र लाल पर जाए और बहुत खुजली होने लगे, तो ये  किसी प्रकार का Skin Disease हो सकता हैं। यदि  यह समस्या कुछ दिनों में ठीक न हो, और दिन प्रतिदिन बड़ने लगे तो ये कोई Skin Disease हो सकती हैं। और यह एक सिंता का विषय हैं।

यह बीमारी पुरूष या महिला किसी को भी हो सकती है, मगर शिशुओ में जादा देखने को मिलती हैं। शिशु में ये बहुत परेशानी का कारन बनता है, अगर आपका बाच्चा रो रहा हो और उसके शारीर पर या गाल पर redness आ जाये, और उसमे खुजली भी हो रहा है तो यह एक्जिमा भी हो सकता हैं। नवजात शिशु खुजा नहीं सकते और ये बात बोह रो के बताते हैं।

एक्जिमा एक chronic skin disease हैं। ये लम्बे समय तक चलती हैं। कुछ लोगो में यह बीमारी चिकित्चा से ठीक हो जाती है, और कुछ लोगो में ये पूरी जीवन रहती हैं। इसी लिए आप कोई भी इलाज करे उसे अधुरा न करे, पूरी चिकित्चा करने से ये ठीक भी हो सकती हैं।

Eczema Symptoms

हम कुछ बातो को जानेंगे, जिससे आप इस बीमारी को पहचान पाएंगे।
इसका पहला Symptoms है, की त्वजा का एक क्षेत्र लाल हो जाता हैं, और उसमे खुजली होने लगता हैं। ये problem जल्दी ठीक नहीं होती और बढ़ने लगता हैं।
इस में त्वजा के ऊपर लालिमा आजाती हैं, फिर येही लाल लाल धब्बे बन जाते हैं जिस मैं बहूत खुजली होती हैं। 

      स्किन बहुत ही जादा ड्राई हो जाता हैं, और स्किन फटने लगता हैं या स्किन की ऊपर की चमरी निकलने लगती हैं। कुछ लोगो में खुजाने के बाद पानी जैसा निकलने लगता हैं, और फटने के बाद खून भी निकलता हैं।

     जहा एक्जिमा होती है, उन स्थानों पर त्वचा की मोती परत बन जाती है, और त्वचा में अधिक सूखापन आती हैं। उस जगह की त्वचा से पपड़ी निकलना शुरू हो जाती है, और जब एक्जिमा जादा हो हटा है, तो वह जगह काली होने लगती है।

     जिन लोगों को यह बीमारी होती है, उन लोगों का स्किन बहुत ही नाजुक हो जाती हैं। एक्जिमा शुष्क त्वचा के लोगों में जादा पाए जाते हैं। नवजात शिशु में ये बीमारी पाए जाते हैं, लेकिन जादातर शिशु में ही अपने-आप ठीक भी हो जाती हैं।

      एक्जिमा शारीर के किसी भी क्षेत्र में हो सकती हैं या पूरी शारीर में भी हो सकता हैं (पुरे शारीर में यह बीमारी जादा होने के बाद ही फेलती हैं), लेकिन कुछ जगहों में यह बीमारी जादा देखने को मिलती हैं जैसे, चेहरा में, छाती पर, हाथो की कोहनी के ऊपर, घुटनों के पीछे, पैरो में। 

      शिशुओं में ये चेहरे में और सिर पर जादा देखने को मिलती हैं, ज्यादातर शिशुओं में एक्जिमा कुछ दिनों में ही ठीक हो जाता हैं, लेकिन 2 या 3 साल के बच्चों में यह जादा हो सकता हैं और अपने-आप ठीक नहीं होती। आप इसका इलाज जरुर करे।

      एक्जिमा ठण्ड के दिनों में जादा होता हैं, और कुछ सीजनल भी होते हैं। इसमें बहुत खुजली होती है, जिस के कारन लोग इसे नाखुनो से खुजाने लगते हैं, जिस से उस जगह में infection भी हो जाती हैं। इसी लिए सबधन रहे।

Eczema ke Symptoms

आप कई symptoms के बारे में जानेंगे, भीर भी इसके symptoms को दो भागों में देखा जाता हैं, एक हे Dry Eczema और दूसरा हैं Wet Eczema

Dry Eczema शारीर के किसी भी क्षेत्र में हो सकता हैं, फिर भी हाथों, पैरों, पीठ, गले के पीछे, चेहरे में, इन सब जगहों में अधिक देखने को मिलता है। Dry Eczema में अधिक खुजली होती हैं और त्वचा में मोती परत बन जाती हैं। और जब उस जगह को खुजाते हैं तो उस जगह से रूसी निकलने लगता हैं। कभी कभी उन जगहों से खून भी निकलने लगता हैं। Dry Eczema की खुजली रात को बढ़ जाती हैं।

Wet Eczema में पेहले दाने निकलता हैं, जादातर ये दाने गुलाबी या लाल रंग के होते हैं। भीर उसमे खुजली होने लगता हैं, और खुजली के बाद उसमे पानी या चिपचिपा पदार्थ जैसे पानी निकलता हैं। पर Wet Eczema बहुत ही कम लोगों में पाए जाते हैं।

बहुत तरह के Symptoms एक्जिमा में देखने को मिलते हैं, अलग अलग इंसानो में अलग अलग  Symptoms दिखाई दे सकते हैं जैसे..

Rashes या लाल चकत्ते बन जाना बहुत ही आम लक्षण हैं।
बहुत जादा खुजली होना भी आम लक्षण हैं
Eczema में त्वचा बहुत नाजुक हो जाता हैं
त्वचा में बहुत Dryness आ जाती हैं
त्वचा में सुजन आ जाती हैं
खुजली के बाद पपड़ी निकलता हैं
त्वचा फट जाता है
त्वचा में एक मोती परत बन जाता हैं


एक्जिमा एक एईसी स्किन की बीमारी है जो बहुत कम मात्र में ठीक होती हैं। अगर आप इसका अच्छा और पूरा इलाज नहीं करेंगे तो ये बीमारी ठीक होने के बाद बापस आयेगी। इसकी इलाज बहुत ही आवश्यक हैं, और आप इसका इलाज करके इस से राहत भी पा सकते हैं। कुछ लोगो में यह बीमारी बार बार बापस आती है, और बहुत ही पीड़ादायक स्थिति बनाती हैं। 

इस बीमारी के साथ जीवन बिताना बहुत की कठिन हैं, क्योंकि इसकी पीराबहुत होती हैं, जो सहन नहीं होता हैं। इसी लिए पहली अबस्था में ही इसका इलाज करना बहुत जरूरी होता हैं। इस से आपकी बीमारी ठीक भी हो सकती हैं।

इस बीमारी का इलाज संभव हैं, आप को इलाज के बहुत सरे विकल्प मिल जाते हैं, लेकिन आप को सावधान रहना बहुत ही जरुरी हैं। एक अच्छे Doctor से इलाज, दवाई के साथ सावधानिया और कुछ घरेलु उपचार जरुर ले, इस से आपकी बीमारी ठीक हो सकती हैं।

Eczema होने का कारन 

जादातर स्किन की बीमारी का ही कारन पता नहीं होता हैं, एक्जिमा का भी सही कारन बताया नहीं जा सकता। फिर भी कुछ कारन और सावधानियो के बारे में हम जानेंगे।

निम्न लिखित बातो को अच्छी तरह समझ ले, क्यों की इस से भी एक्जिमा का विकार हो सकता हैं
Sensitive skin के लोगों में जल्दी विकसित होता है।

अगर परिवार में किसी को एक्जिमा है, तो यह बीमारी बच्चों में हो सकती है। ये आनुवांशिक कारणों से भी होते हैं।

कुछ चीजों के संपर्क में आने से भी हमारे शरीर में एक्जिमा हो सकता हैं।

जादा धुल, मिट्टी या गन्दगी के सम्पर्क में आने से, किसी जानवर को छूने से तब शरीर में खुजली या ये बीमारी होने का कारन पैदा हो सकता हैं।

इस बीमारी में साबुन या chemical के प्रोडक्ट का इस्तमाल बिलकुल भी न करे।

कुछ seasonal भी होते है, जो मोसम के साथ आते है। कुछ गर्मियो के मौसम में और कुछ सर्दियो के मोसम में। 

खाने की कुछ चीजें हमारे शरीर में खुजली का कारण भी बनती हैं, जिसे फूड एलर्जी भी कहा जाता है। जिससे ये बीमारी हो सकती हैं।

अधिक तनाव में रहने से, या अधिक डिप्रेशन में रहने से और नींद के कमी की बजह से ये बीमारी हो सकती हैं।

पेट की खराबी से भी प्रभावित होता है, जैसे liver का ख़राब होना, Intestine की खराबी, बदहजमी या खून में बुरे तत्वा का मात्र बढ़ जाना, इन सब कारणों के बजह से भी यह बीमारी होता हैं।

यह एलर्जी के बजह से भी होता हैं, जब एलर्जी से खुजली होता हैं उसके बाद यह बीमारी दिखाई दे सकती हैं।

इस बीमारी का मतलब त्वजा में inflammation और irritation होना होता हैं।

    Types of Eczema

     1.Atopic Dermatitis
    यह chronic skin disease हैं, जो जल्दी ठीक नहीं होती, इसमें खुजली होना त्वचा में सुजन आना बहुत ही आम हैं
    Read more..

    2.Contact Dermatitis

    यह Dermatitis दो प्रकार के होते हैं, Irritant Contact Dermatitis और Allergic Contact Dermatitis. यह जादा एलर्जी पैदा करने वाले चीजो को चुने से आते हैं। अगर आप जादा chemicals के सम्पर्क में रहते हैं तब भी आता हैं, जब भी किसी allergent को छुते हैं तब ये बीमारी आ जाती हैं, जिसमे सुजन आ जाती हैं, जलन होती हैं और लाल धब्बे बन जाते जाते हैं

    3.Dyshidrotic Dermatitis

     Dyshidrotic Dermatitis जो आपके पैरों के तलवों और आपके हाथों की हथेलियों पर होते हैं. उंगलियो में और हाथ,पैर के तलवों की त्वजा में विकसित होते हैं यह गहरे और स्पस्ट फफोले बन जाते हैं. यह बीमारी महिलाओ में जादा पाए जाते हैं

    Read more..

    4.Nummular Dermatitis

    ये रोग ज्यादातर पुरुषों में पाया जाता है, महिलाओं में कम पाया जाता है। ये पैरों में, हाथो के कोहनीओ में या हाथो के ऊपर, कमर के ऊपर आते हैं। यह बीमारी एक सिक्के के आकर में या अंडाकार में लाल चकत्ते बनके दिखाई देते हैं। इसी लिएइसको पहचानना बहुत ही आसान होता हैं। यह बीमारी किसी कीरे के काटने से भी सकता हैं।

    5.NeuroDermatitis

     यह बीमारी त्वजा में सुजन पैदा करती हैं। अगर त्वजा में कोई खरोश आये जिस में खुजली होने लगे, तब यह बीमारी आती हैं।

    6.Stasis Dermatitis

    इस एक्जिमा में पैरों से शारीर तक जब रक्त प्रबाह में समस्या होती हैं, तब यह बीमारी होती हैंखुन के खराब संचलन के बजह से होता है।

    7.Seborrheic Dermatitis

    यह जादा सर में होने वाली बीमारी होती हैं, जिसमे dandruff की तरह रुसी निकलती हैं, जो त्वजा की मरी हुई ऊपर की परत होती हैइसमें खुजली भी बहुत होती हैं। Seborrheic Dermatitis eyebrows, छाती, कण के पीछे और पीठ पर जादा होता हैं.
         
    किसी भी Skin Disease से न डरे, Eczema को भी अच्छे इलाज से ठीक किआ जा सकता हैं 
    Previous
    Next Post »