Stasis Dermatitis: Symptoms And Causes in Hindi

Stasis Dermatitis: Symptoms And Causes in Hindi
Stasis Dermatitis: Symptoms And Causes in Hindi


क्या आप  Stasis Dermatitis के बारे में जानना चाहते हैं? Stasis Dermatitis का Causes जाने, Symptoms क्या होते हैं और Stasis Dermatitis की पूरी जानकारी.


Eczema के प्रकारो में Stasis Dermatitis थोड़ा अलग होता हैं। खुजली होना या कई एक जैसे लक्षण होना हर एक्जिमा में ही  आम होता हैं। लेकिन ये Dermatitis एक ऐसी Eczema हैं जो सिर्फ पैरों को ही affect करता हैं।
ये एक Chronic Skin Disease हैं। बार बार होना या ठीक न होना या लम्बे समय तक इसके पिरा में रहना, इन सब बजह से ही यह disease हमे बहुत ही परेशान करती हैं। बहुत सारे ऐसे उपचार हैं जिस से हम इस बीमारी से आराम पा सकते हैं। अगर कोई भी बिमारी पूरी तरह से ठीक न हो तोह भी उस बीमारी का उपचार सम्भब होता हैं जिस से साधारण और खुशहाल जीवन बितीत किआ जा सकता हैं।


यह Dermatitis कम लोगो में पाये जाते हैं अन्य Eczema के तुलना में। आप जो भी इस बीमारी के बारे में जानना चाहते हैं, या इस बीमारी से जूझ रहे हैं तोह पूरी जानकारी के साथ आप को खुद पर बिस्वाह, सबधाणी और सयम से इलाज करना होगा।

सरलता से समझने के लिए बस यह जान ले कि हमारे शरीर में होने वाले blood की ख़राब circulation के बजह से, यह Dermatitis होती हैं, जिस से कमजोर Veins से Fluid या द्रब निकलता हैं जो इस बीमारी का कारण होता हैं।

यह एक्जिमा बिकसित होने के बाद स्पस्ट रूप से पैरो के निचे हिस्से में red, brown या dark brown colour के दाग या धब्बे नजर आ जाते हैं, जिसमे सूजन पैदा हो जाते हैं।

Causes Of Stasis Dermatitis

इसके बारे में बिस्तर से जाने...

ये Dermatitis एक ऐसी Eczema हैं जो खून की एक ख़राब circulation या परिसंचारण से होता हैं। यह हमारे निचले पैरों में ही होता हैं। जो दिन के समय हमे ज्यादा परेशान करती हैं, रात के समय हम कुछ आराम महसूस करते हैं। ज्यादा समय खड़े रहने से या बैठे रहने से ये हमे ज्यादा परेशान करती हैं।

हमारे पैरो के Valves का काम होता हैं खून को सही दिशा में प्रबहित करना।  जो Valves हमारे  पैरों के निचले हिस्से में अंदर की तरफ हैं, वह heart की तरफ होता हैं वह हमारे खून को heart की तरफ प्रबहित करती हैं। मगर जब ये खून को ऊपर प्रबाह करने की बजह बापस पैरो की तरफ ही प्रबहित करती हैं और जमा करने लगती हैं तब ये Dermatitis बिकसित होती हैं।


बहुत समाये से जब आप के शरीर में खून की ख़राब circulation होती रहती हैं तब आप की Veins बहुत ही कमजोर होते हैं, इस प्रक्रिआ को सँभालने मैं। और तब आप के निचले पैरों के Veins में खून जमा होने लगता हैं, और इसी जमा हुए खून के बजह से Veins पर दवाब बढने लगता हैं।

हमारे blood vessels या रक्त वाहिकाएं बहुत ही छोटे होते हैं और इसी लिए ये दवाब को नहीं झेल पाते हैं जिस से ये हमारे कोशिकाओं को नुकसान पोहचाता हैं।  इस दवाब से कोशिकाओं में Fluid का निर्माण होता हैं और यही  Fluid या द्रव को कोशिकाओं शरीर से बहार निकालता हैं। मतलब ये Veins के द्वारा leak होता हैं। जिस से पैरों में सूजन पैदा होता हैं।
Fluid के साथ शरीर Fibrinogen नमक एक Protein को भी tissues द्वारा leak करता हैं। और हमारा शरीर इसी Fibrinogen को Protein के सक्रिए रूप में परिबर्तन कर देता हैं। जिस को Fibrin कहा जाता हैं। Fibrin से ही हमारे शरीर में Fibrin Cuffs बन जाते हैं, जो पर्याप्त Oxygen  को हमारे  tissues  में पहुचने से रोकती हैं।


इन सब बजह से आप के कोशिकाओं को पर्याप्त Oxygen नहीं मिल पाती जिस से कोशिकाओ के ऊपर बुरा प्रभाब परने लगता हैं जिस से यह कोशिकाए damage होती हैं, या यह कोशिकाए मर भी सकती हैं, जो आप के पैरों की स्किन में स्पस्ट रूप से नजर आती हैं। लेकिन ये ख़राब परिणति होती हैं, जो अंत में दिखाई देती हैं। हमे बस इन सब बुरे परिणामो से बचना हैं और अच्छे  Doctor को दिखा के खुद को बचाना हैं।

Symptoms of Stasis Dermatitis 


यह बीमारी खून के ख़राब circulation के बजह से होती हैं, जो उम्र के साथ इसके होने की सम्भाबना बढ़ जाती हैं। इसी लिए यह एक्जिमा जादातर 50 साल के उम्र के बद में ही पाए जाते हैं, और पुरुषो के मुक़ाबले में ये महिलाओं में ज्यादा पाये जाते हैं।
  • पैरों में सूजन आना पहला और आम लक्षण होता हैं।Pero me swelling hona
  • पैरों में भारीपन महसूस होता हैं।
  • बहुत खुजली होना।
  • पेरो में Redness आ जाना या ज्यादा गाढ़ा रंग आ जाना।
  • पैरो में दर्द महसूस होना
  • Skin dry होना, कुछ समय बाद skin heard हो जाना, skin मोटा हो जाता हैं और ज्यादा thickness आ जाती हैं।
  • धीरे धीरे skin उतरने लगना।
  • कुछ समाये बाद Skin के ऊपर खुले घाव का बिकास भी हो सकता हैं जिसमे Ulcers भी हो सकता हैं।
  • कुछ Veins होते हैं जिसे Varicose Veins कहते हैं जो मोटे हो जाते हैं साथ में damage भी हो जाते हैं, और उसकी ऊपर का त्वजा ख़राब हो जाती हैं जो सुखी मोति शमरी हो सकती हैं जिस में Ulcers भी हो जाते हैं।
  • कभी कभी पैरों में लगी हुई पुराणी गहरी चोट या किसी surgery के बजह से भी यह एक्जिमा बिकसित हो सकती हैं।
  • अंतिम चरण में त्वजा का टूटना छीलना और बहुत ही पीड़ादायक होने लगता हैं, लेकिन आप ऐसा न चोचे येह इलाज न करने पर हो सकता हैं, इस से न डरे, इलाज के माध्यम से हम अच्छी तरह रह सकते हैं, बिना कोई परेशानी के।

    Stasis Dermatitis होने का और बढ़ जाना का कारण जाने।

    • जिन लोगों में यह बीमारी पायें जाते हैं, उन लोगों को High blood pressure की problem होती हैं।Congestive heart failure
    • Kidney का खराब होना।
    • खून से भरी हुए Veins जो फूल जाती हैं, जो इन बिमारी का उत्पादक हो सकती हैं।
    • शरीर का ज्यादा weight भी sinta का कारण बन सकता हैं।
    • जिन लोगो को खून का ख़राब प्रबाह का problem होता हैं वह लोग अगर नियमित व्यायाम करे तोह यह Dermatitis बिकसित होने की सम्भाबना कम होती हैं।
    • बहुत सारे गर्भधारण के बाद महिलाओं में बिकसित होने का सम्भाबना बढ़ जाती हैं।

    कुछ सभधनिया

    • पहले हमे एक अच्छे डॉक्टर पास जाना चाहिए, जिस से इस एक्जिमा का एक सही और अच्छा इलाज हो सके।
    • हमे नियमित व्यायाम करनी चाहिए।
    • ज्यादा देर पैदल न चले और न ही ज्यादा देर बैठे रहे। जितना पैर नीचे की तरफ रहता हैं तब ब्लड circulation ठीक तरह से नहीं हो पता इसी लिए पैरों को फैला के बैठे।
    • जब भी आप के पैरों में खुजली हो आप सबधाणी से खुजाये ताकि खुजाने के बाद आप के त्वजा में scratch न आये। खरोंच आने से इस में बुरा परिणति देख सकते हैं।
    • High blood pressure से साबधान रहे, क्यों की जब Veins खून को ऊपर प्रबहित करने के लिए ऊपर धक्का देती हैं तब blood pressure और High हो सकती हैं।
    • खाने-पीने की चीजों में ध्यान रखें ताकि शरीर में ज्यादा toxin जमा न हो, साथ में क्या कुछ खाने से आप को कोई problem दिखे तोह उन चीजों को परहेज करे।
    • आपने जीवन शैली को समझे और सबधाणी के साथ हर चीज को समझ के जीवन शैली को अनुकूल बनाए।
    • बहुत सारी problem समाय के साथ स्थाई होती हैं इसी लिए doctor से शिक्तशा जरुर ले।
    • एक्जिमा के area को infection से बचाये, धक् के रखे या मोज़े का इस्तमाल करे।
      हम कुछ भी करे बिना इलाज के कोई भी बीमारी ठीक नहीं होती। साथ में सिर्फ इलाज करना ही काफी नहीं होता, हमे क्या हुवा हैं इसकी पूरी जानकारी के साथ सबधाणी बहुत ही जरुरी होता हैं

    Previous
    Next Post »